पत्रकारों का हुआ सम्मान, शिवपुरी की पत्रकारिता हमेशा सामाजिक सरोकारिता से जुड़ी रही - देव श्रीमाली
December 28, 2019 • M.S.Bishotiya
जनसरोकार मीडिया विषय पर कार्यशाला सम
 
शिवपुरी, ग्वालियर।म.प्र. सरकार के एक वर्ष पूर्ण होने पर जनसंपर्क विभाग द्वारा प्रदेश के सभी जिलो में कार्यशालाओं का आयोजन किया जा रहा है इसी कड़ी में जिला जनसंपर्क शिवपुरी द्वारा ''जनसरोकार एवं मीडिया विषय'' पर शुक्रवार को स्थानीय सनराईज होटल में कार्यशाला संपन्न हुई। जिसमें जिला मुख्यालय सहित जिले के पत्रकार गणों ने भाग लिया।
    आयोजित कार्यक्रम के मुख्य अतिथि ग्वालियर के वरिष्ठ पत्रकार श्री देव श्रीमाली ने की जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता ग्वालियर के वरिष्ठ पत्रकार श्री सुरेन्द्र माथुर ने कि कार्यक्रम में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एच. पी. वर्मा वरिष्ठ पत्रकार श्री प्रमोद भार्गव, वरिष्ठ पत्रकार श्री वीरेन्द्र वशिष्ठ, वरिष्ठ पत्रकार श्री अशोक कोचेटा, विशेष रूप से उपस्थित थे। कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती के माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलित कर किया गया।
    वरिष्ठ पत्रकार श्री देव श्रीमाली ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि शिवपुरी की पत्रकारिता हमेशा सामाजिक सरोकारिता से जुड़ी पत्रकारिता रही हैं। उन्होनें जिले के वरिष्ठ पत्रकार श्री प्रेमनारायण नागर, श्री गोपाल पोराणिक की सामाजिक सरोकार से जुड़ी पत्रकारिता का उल्लेख करते हुए कहा कि आजादी के पूर्व श्री पोराणिक ने ''रूलर इण्डिया'' पत्रिका का प्रकाशन कर सम्पादन किया। श्री देव श्रीमाली ने कहा कि सामाजिक सरोकार एक दूसरे के पूरक है।
    आजादी के पूर्व पत्रकारिता के मायने अंग्रेजो के खिलाफ देश को आजाद कराना था। जबकि आजादी के बाद पत्रकारिता के भी सामाजिक सरोकार बदले है। सामाज का आज भी पत्रकारिता पर भरोसा है पत्रकार इस भरोसे को कायम करते हुए अपने सामाजिक दायित्व का निर्वहन करते हुए सामाजिक सरोकार की रक्षा कर समाज के लिए कार्य करें।
शासन एवं प्रशासन की खबरों को प्राथमिकता दें
    कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हूए वरिष्ठ पत्रकार श्री सुरेन्द्र माथुर ने प्राचीन समय में की गई पत्रकारिता के विभिन्न रूपों के उल्लेख करते हुए पत्रकारों से कहा कि खोजी पत्रकारिता करतें हुए सरकार या मीडिया के बीच में सेतु का काम कर शासन प्रशासन की खबरों को सकारात्मक सोच के साथ मीडिया में स्थान दें। जिससे लोगों को लाभ मिलेगा उन्हांेने पीत पत्रकारिता से बचने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर आने वाली भयानक खबरों को आगे फारवर्ड न करें बल्कि ऐसी खबरों के तथ्यों पर जायें।
समाज में पत्रकारों का उच्च स्थान है
    जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एच.पी. वर्मा ने अपने उदबोधन में कहा कि समाज में पत्रकारों का उच्च स्थान है। इसलिए पत्रकारिता का चैथा स्तंभ के रूप में देखा जाता है श्री वर्मा ने पत्रकारों से आग्रह किया कि योजनाओं के क्रियान्वयन में जो कमियां रह जाती है उसे शासन प्रशासन की जानकारी में लाएं। जिससे आगे सुधार किया जा सकें इसी दिशा में समय-समय पर समाचार पत्रों में प्रकाशित खबरों पर जिला प्रशासन द्वारा समय-समय पर संज्ञान में लेकर कार्यवाही की जाती है। उन्होने कहा कि समाचार पत्रों एवं समाचार चेनलों में अच्छे कार्यो को पर्याप्त स्थान दें। जिससे अन्य लोगों के कार्य के लिए प्रेरणा बन सकें।
कमलनाथ सरकार ने एक वर्ष में ऐतिहासिक फैसले लिए
    वरिष्ठ पत्रकार श्री प्रमोद भार्गव ने कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने एक वर्ष के दौरान समाज के सभी वर्गो के कल्याण के लिए ऐतिहासिक फैसले लिये है जिन पर तेजी से क्रियान्वयन शुरू हो गया है।
    उन्होंने कहा कि प्रदेश में किसानों की कर्जमाफी का ऐतिहासिक फैसला लिया गया है जिसका लाभ किसानों को मिल रहा है। श्री भार्गव ने कहा कि मुख्यमंत्री ने सरकार बनने के पूर्व जो वचन पत्र जारी किया था। उस पर तेजी के साथ अमल शुरू हो गया है जिसका लाभ प्रदेश की जनता को मिल रहा है और राज्य सरकार वचन पत्र के स्वरूप कार्य कर रही है।
आजादी के पूर्व मूल्य आधारित प्रभावी पत्रकारिता थी
    वरिष्ठ पत्रकार श्री अशोक कोचेटा ने अपने उदबोधन में कहा कि पूर्व की अपेक्षा वर्तमान समय में पत्रकारिता में काफी विस्तार हुआ है लेकिन गुणवत्ता में गिरावट आयी है उन्होने कहा कि आजादी के पूर्व मूल्य आधारित प्रभावी पत्रकारिता थी। जिसने समाज को जगाने का कार्य किया आज पत्रकारिता का व्यवसायीकरण हो रहा हैं।
    वरिष्ठ पत्रकार श्री वीरेन्द्र वशिष्ठ ने अपने 34 वर्षो की पत्रकारिता के सेवाकाल पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वर्तमान में पत्रकारिता का काल कठिन एवं चुनौतीपूर्ण है। उन्होंने ने पत्रकारों से कहा कि सकारात्मक सोच के साथ शासन-प्रशासन एवं जनसरोकार से जुड़ी खबरों को भी स्थान दें। कार्यक्रम को वरिष्ठ पत्रकार श्री वीरेन्द्र भुल्ले ने कहा कि जनसरोकार ही मीडिया की जननी है। उन्होने कहा कि पत्रकार को हमेशा विद्यार्थी के रूप में अध्ययन एवं सीखते रहना चाहिए। कार्यशाला में शाल, श्रीफल एवं पुष्पहारो से अतिथि पत्रकारों का जिला जनसंपर्क कार्यालय शिवपुरी द्वारा सम्मान किया गया।
    कार्यक्रम के शुरू में जिला जनसंपर्क कार्यालय शिवपुरी के उपसंचालक श्री अनूप सिंह भारतीय ने कार्यशाला के उद्देश्यों और महत्वों पर प्रकाश डालते हुए शासन की विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं एवं कार्यक्रम की जानकारी देते हुए बताया की राज्य सरकार ने पत्रकारों के लिए सम्मान निधि की राशि 07 हजार रूपये से बढ़ाकर 10 हजार रूपये कर दी गई हैं। कार्यक्रम का संचालन सामाजिक न्याय विभाग के सेवानिवृत्त वरिष्ठ कलाकार श्री अरूण अपेक्षित ने किया। इस मौके पर कार्यक्रम के अंत में जिला जनसंपर्क कार्यालय शिवपुरी की सहायक संचालक सुश्री प्रियंका शर्मा ने सभी के प्रति आभार व्यक्त किया।