नई दिल्ली।शाहीन बाग भी पहुंचे थे तब्लीगी जमात के लोग, दिल्ली में फट सकता है कोरोना संक्रमण का बम
April 3, 2020 • M.S.Bishotiya

नई दिल्ली।दिल्ली के निजामुद्दीन में तब्लीगी जमात के कार्यक्रम से बड़ी संख्यामेंलोगकोरोनावायरस से संक्रमित पाए गए हैं अब इसी बीच कुछ रिपोर्ट्स में आशंका जताई जा रही है कि तब्लीगी जमात के कुछ लोग शाहीन बाग में प्रदर्शनकारियों के बीच पहुंचे थे।

अंडमान-निकोबार में कोरोनावायरस से संक्रमित एक व्यक्ति शाहीन बाग में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन की जगह पर पहुंचा था अधिकारियों ने अभी तक मरीज का बयान दर्ज नहीं किया है।

हालांकि, उसके साथ शाहीन बाग गए अन्य लोगों की तलाश शुरू कर दी गई है अफसर मोबाइल डेटा और ट्रैवल हिस्ट्री के जरिए ऐसे लोगों की तलाश कर रहे हैं गौरतलब है कि तब्लीगी जमात के 13-15 मार्च के कार्यक्रम में विदेशियों की मौजूदगी का खुलासा होने के बाद सरकार हरकत में आई थी।

30 मार्च से 1 अप्रैल तक लगभग 36 घंटे चले ऑपरेशन में दिल्ली पुलिस ने निजामुद्दीन का वह इलाका खाली कराया था, जहां तब्लीगियों ने मरकज का आयोजन किया था इसके अलावा इस कार्यक्रम में शामिल लोगों को ढूंढना भी शुरू कर दिया था।

गौरतलब है कि तब्लीगी जमात के 13-15 मार्च के कार्यक्रम में विदेशियों की मौजूदगी का खुलासा होने के बाद सरकार हरकत में आई थी 30 मार्च से 1 अप्रैल तक लगभग 36 घंटे चले ऑपरेशन में दिल्ली पुलिस ने निजामुद्दीन का वह इलाका खाली कराया था, जहां तब्लीगियों ने मरकज का आयोजन किया था।

इसके अलावा इस कार्यक्रम में शामिल लोगों को ढूंढना भी शुरू कर दिया था गौरतलब है कि तब्लीगी जमात के 13-15 मार्च के कार्यक्रम में विदेशियों की मौजूदगी का खुलासा होने के बाद सरकार हरकत में आई थी।

30 मार्च से 1 अप्रैल तक लगभग 36 घंटे चले ऑपरेशन में दिल्ली पुलिस ने निजामुद्दीन का वह इलाका खाली कराया था, जहां तब्लीगियों ने मरकज का आयोजन किया था इसके अलावा इस कार्यक्रम में शामिल लोगों को ढूंढना भी शुरू कर दिया था।

निजामुद्दीन में हुए मरकज के खुलासे के बाद देशभर में लगातार कोरोना के केस बढ़ रहे हैं उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश और बिहार समेत कई राज्यों ने कहा है कि दिल्ली में मरकज में शामिल होने वाले तब्लीगी जमात के कई सदस्य अभी राज्य में नहीं लौटे हैं।

ऐसे में उन्हें ढूंढने में सरकार की परेशानी बढ़ी है दूसरी तरफ उनके संपर्क में आए लोगों का पता लगाना भी मुश्किल साबित हो सकता है शाहीन बाग में भी प्रदर्शन के दौरान अलग-अलग दिनों पर कई हजार लोग जुट चुके हैं।