महान गीतकार गुलज़ार ने किया रीवा राठौड़ का पहला सोलो एल्बम 'साया तेरे इश्क का' का अनावरण।रिपोर्ट: के .रवि ( दादा ) 
January 21, 2020 • M.S.Bishotiya

मुंबई बॉलीवुड।मुंबई के प्रसिद्ध पांच सितारा होटल सहारा स्टार में प्रतिभाशाली गायक रीवा राठौर के पहले एकल एल्बम का अनावरण महान गीतकार गुलज़ार ने किया। इस भव्य आयोजन में गुलज़ार और रीवा राठौड़ के अलावा रूपकुमार राठौड़ और सुनाली राठौड़ ने भी अपनी उपस्थिति दर्ज कराई।साल २०१८ में  गुलझार वैशिष्ट्यीकृत 'मौला' (वन अबाव)  और साल २०१९ में 'सांवल' जिसके संगीत निर्माता थे जाकीर हुसेन और  मायकल मेननर्ट  इन समीक्षात्मक हिट्स के लिए प्रसिद्ध गायिका - संगीतकार- पियानो वादक रीवा राठोड एक बार फिर उनके प्रशंसको के दिल पर राज करने को तैयार है नए डेब्यू सोलो एल्बम 'साया तेरे इश्क का' के साथ। ख़ास बात यह है कि इस एल्बम के गीतो के बोल खुद गुलज़ार ने लिखे हैं! रीवा इस कार्यक्रम के दौरान अपनी ख़ुशी व्यक्त करती हुई  गुलज़ार के बारे में कहा, "गुलज़ार साहब ने मुझे अपने दिल का अनुसरण करना, खुद पर विश्वास करना और 'साया तेरे इश्क़ का' के साथ अपने सभी डर को दूर करना सिखाया।"दादा के रूप में स्वर्गीय पंडित चतुर्भुज राठौड़, रूप कुमार राठौड़-सुनाली राठौड़ माता-पिता के रूप में, और संगीत निर्देशक श्रवण राठौड़ (नदीम-श्रवण) चाचा के रूप में यह कहना गलत नहीं है कि संगीत राठौड़ परिवार की रगों में बहता है। रीवा राठौड़ ने छःसाल की उम्र में पश्चिमी शास्त्रीय पियानो का प्रशिक्षण मिस शांति सेलडन से प्राप्त कीया | इसके बाद कर्नाटक शास्त्रीय संगीत प्रशिक्षण प्रसिद्ध गुरु टी. एस. बालमणि से लिया गया। उन्होंने बनारस घराने के पंडित राजन और साजन मिश्रा द्वारा हिंदुस्तानी शास्त्रीय गीतों का प्रशिक्षण लिया। पंडित हृदयनाथ मंगेशकर और उनके पिता रूपकुमार राठौड़ से संगीत बारीकियों से सीखा ।रीवा के माता-पिता रूपकुमार राठौड़ और सुनाली राठौड़ जो अपनी बेटी पर गर्व करते हैं, इस मौके पर वो फूले नहीं समां रहे थे। उन्होंने कहा , "हमें यह जानकर खुशी हुई कि हमारी छोटीसी परी रीवा का पहला सोलो एल्बम के गीत के बोल लिविंग लिटिल लीजेंड गुलज़ार साहब ने  लिखे है,,"  आगे रूपकुमार राठौड़ ने कहा,"  “रीवा अपने गीतों पर जितना ध्यान और निष्ठा देती हैं, वह वाकई सराहनीय है। अब तक जो भी उसने हासिल किया है उससे मैं बहुत खुश हूं। इस बार उसके कंधों पर एक बड़ी जिम्मेदारी है क्योंकि एल्बम में गुलज़ार साहब का नाम शामिल है और मुझे यकीन है कि वह इसे सफलतापूर्वक पूरा कर पाएगी। "शीर्षक गीत 'साया तेरे इश्क का' अमेरिकी निर्माता-इंजीनियर-मिक्सर ब्रायन मालोफ़ द्वारा एक कलात्मक  मिश्रण है। प्रतिभाशाली विदेशी  कलाकार ने इससे पूर्व किंग ऑफ़ पॉप माइकल जैक्सन, क्वीन, मैडोना, पर्ल जैम और स्टीव वंडर जैसे अंतर्राष्ट्रीय कलाकारों के साथ काम किया है। रीवा द्वारा इस एल्बम का शीर्षक गीत पारंपरिक जैज़ और आधुनिक पॉप का संयोजन है। डीजे रविन ने भी इस एल्बम में ट्रैक मिश्रित किया है। ब्रायन और डीजे रविन के अलावा, कल्याण बरुआ और ध्रुव घानेकर जैसे प्रशंसित संगीतकारों ने भी इस एल्बम के निर्माण में बहुत महत्वपूर्ण योगदान दिया है। 'साया तेरे इश्क का' मेरे लिए बहुत खास है क्योंकि इसने मुझे एक नयी रीवा से परिचित कराया है। इसका संगीत सीधा दिल से है और मैंने इसे यथासंभव मूल रखने की कोशिश की है। मैंने अपनी ऊर्जा के प्रत्येक औंस को इसमें डाल दिया है, और किसी भी कृत्रिम चाल से दूर रखा है। मेरे पास गुलज़ार साहब को धन्यवाद देने के लिए शब्द पर्याप्त नहीं हैं और मुझ पर भरोसा करने के लिए मैं उनकी बहुत ऋणी हूं। और इस पूरी परियोजना के पीछे वो रीढ़ और शक्ति थे, “रीवा  ने अंत में कहा। गुलज़ार द्वारा लिखित और रीवा  द्वारा गाया गया यह गीत 'साया तेरे इश्क का' टाइम्स म्यूजिक पर जारी किया गया है।