कुपोषित मुक्‍त समाज की कल्‍पना साकार हो - श्रीमती इमरती देवी
October 20, 2019 • M.S.Bishotiya
कुपोषित मुक्‍त समाज की कल्‍पना साकार हो - श्रीमती इमरती देवी
महिला बाल विकास विभाग की समीक्षा बैठक संपन्‍न
 
 
 
 
    प्रदेश सहित जिले में कुपोषित मुक्‍त समाज की कल्‍पना साकार हो। कोई भी बच्‍चा कुपोषण से ग्रस्‍त न हो। ऐसे प्रयास हम सभी को करना चाहिए। इस आशय के निर्देश प्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री तथा जिले की प्रभारी मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने शनिवार को जिला कलेक्‍ट्रेट सभा‍कक्ष में आयोजित महिला एवं बाल विकास विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान अधिकारियों को दिए। बैठक में कलेक्‍टर श्री भास्‍कर लाक्षाकार, संयुक्‍त संचालक ग्‍वालियर संभाग महिला एवं बाल विकास श्री सुरेश तोमर, संयुक्‍त संचालक भोपाल श्री प्रवीण गंगराडे, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास श्री डीएस जादौन, जिले के समस्‍त सुपरवाईजर, आंगनबाडी कार्यकर्ता एवं सहायिका  उपस्थित थे।
         बैठक में प्रभारी मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने कहा कि जिले की सभी आंगनवाडी केन्‍द्र समय पर संचालित हों। साथ ही बच्‍चों की शत प्रतिशत उपस्थिति सुनिश्चित की जाए। उन्‍होंने आंगनवाडी केन्‍द्रों के लिए उपलब्‍ध कराये जाने वाले पोषण आहार के संबंध में निर्देश दिए कि आंगनवाडी केन्‍द्रों पर समय पर पोषण आहार उपलब्‍ध कराया जाए। बच्‍चों को आंगनवाडी केन्‍द्रों पर मिलने वाला मध्‍यान्‍ह भोजन गुणवत्‍तापूर्ण हो तथा नियमित रूप से मिले यह सुनिश्चित किया जाए। उन्‍होंने सुपोषण माह के तहत की गई गतिविधियों की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि चिन्हित किए गए कुपोषित बच्‍चों की उचित देखभाल की जाए, जिससे वे सुपोषण की श्रेणी में आ सकें।
    उन्‍होंने कहा कि आंगनबाडी केन्‍द्रों की व्‍यवस्‍थाएं बेहतर से बेहतर किए जाने हेतु मध्‍यप्रदेश सरकार निरंतर प्रयत्‍नशील है। वह दिन दूर नही जब प्रदेश को आंगनबाडी केन्‍द्रों की उपलब्धि हेतु पुरूस्‍कार प्राप्‍त होगा। इस सभी का श्रेय फील्‍ड वर्क करने वाले कर्मचारियों को मिलेगा। उन्‍होंने निर्देशित किया कि आंगनबाडी केन्‍द्रों में रिक्‍त पदों की पूर्ति यथाशीघ्र ही नियमानुसार की जाये।
    बैठक में कलेक्‍टर श्री लाक्षाकार ने बताया कि जिले में अतिकुपोषित एवं गंभीर बच्‍चों का सर्वे कर सुपोषण माह के अंतर्गत 798 बच्‍चों को एनआरसी में भर्ती कराया गया था। जिनकी देखभाल निरंतर की जा रही है। सभी आंगनबाडी केन्‍द्रों को सर्वसुविधायुक्‍त शौचालय एवं पेयजल की सुविधा सहित बनाने हेतु सभी आवश्‍यक उपाय किये जा रहे हैं साथ ही अशासकीय भवनों से शासकीय भवनों में आंगनबाडी केन्‍द्रों को‍शिफ्ट करने का भी कार्य किया जा रहा है।
    बैठक में जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री जादौन द्वारा आंगनबाडी केन्‍द्रों के संचालन, रिक्‍त पदों की संख्‍या, कर्मचारियों का समयमान वेतनमान, कुपोषण की स्थिति, संपर्क एप्‍लीकेशन, लाडली लक्ष्‍मी योजना की प्रगति, वनस्‍टाप सेंटर की प्रगति, आंगनबाडी निर्माण की अद्यतन स्थिति, बाल शिक्षा केन्‍द्र, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना, सशक्‍त वाहिनी, नारी चौपाल एवं किशोरी बालिकाओं का स्‍वास्‍थ्‍य शिविर के संबंध में पॉवर प्रजेंटेशन के माध्‍यम से विस्‍तार से जानकारी दी।