कांग्रेस तैयार करेगी सौ प्रखर वक्ता दो तानाशाह कभी एक साथ नहीं रह सकते-सज्जन वर्मा
October 12, 2019 • M.S.Bishotiya

पंचमहलकेसरीअखबार

भोपाल।भारतीय जनता पार्टी की सरकार तानाशाहों की सरकार है एवं आज नहीं तो कल दो तानाशाहों की लड़ाई होगी और कीमत देश को चुकानी पड़ेगी । उन्होने कहा कि मोदी अब संघ से आगे निकल गये हैं।गांधी के विचार एवं दर्शन पर मध्य प्रदेश कांग्रेस के विचार विभाग के तत्वावधान में आयोजित संगोष्ठी में लोकनिर्माण मंत्री श्री सज्जन वर्मा ने उक्त उद्गार व्यक्त किए ।वर्मा ने कहा कि भाजपा को गांधी नहीं उनके चित्र से प्रेम है ,दिल में तो आज भी गोडसे बैठा हुआ है। उन्होंने कहा कि आज भाजपा के अंदर भी जो अच्छे लोग हैं उन्हें काम करने से रोका जा रहा है ।गडकरी जैसे ठीक लोगों को किनारे किया जा रहा है।कार्यक्रम में प्रदेश के ख्यातनाम चिकित्सक डॉ एम पी मिश्रा ने कहा कि गांधी महामानव थे वे दुनिया के एकमात्र व्यक्ति थे जिन्होंने बिना खूनी क्रांति के देश को एक ऐसे साम्राज्य से आजाद कराया जिनके बारे में कहा जाता था कि उनके साम्राज्य का सूरज अस्त नहीं होता था।उन्होंने गांधी को शारीरिक संरचना से मंगोल जैसा बताया,और अत्यंत कुशाग्र नेता माना।एक अन्य वक्ता लज्जा शंकर हरदेनिया ने गांधी को एक आध्यात्मिक व्यक्तित्व निरूपित किया उन्होंने बताया कि गांधी जी जब अनशन पर बैठे तो वायसराय ने अपने चिकित्सक को उनकी जांच करने भेजा और कहा कि यह बूढ़ा कितने दिन में मर जाएगा वायसराय के चिकित्सक ने कहा की गांधी जी सात दिन से अधिक जीवित नहीं रह सकते लेकिन गांधीजी 21 दिन तक आमरण अनशन पर बैठे रहे ।तब कुपित होकर वायसराय ने अपने चिकित्सक से पूछा कि तुम तो कहते थे कि सात दिन में गांधी मर जाएंगे । सरकार ने उनकी चिता तक की तैयारी कर ली थी लेकिन गांधी तो जिंदा है क्या तुम इसी लेवल के डॉक्टर हो।तो वाय सराय के डॉक्टर ने कहा सर मैं साधारण मानव का चिकित्सक हूं यह कोई असाधारण व्यक्ति है ।
गांधी एक ऐसी महान शख्सियत थे जिसके हजारों रूप देखे जा सकते हैं। आज भी ब्राजील में उनके नाम पर बच्चों के नाम रखे जाते हैं। पोलैंड में गांधी के नाम पर कार्निवल होता है "फॉलो द महात्मा" दुनिया का एक बड़ा कार्यक्रम है जो महीना भर चलता है यह जानकारी देते हुए विचार विभाग के अध्यक्ष पूर्व ओ.एस.डी भूपेंद्र गुप्ता ने बताया कि गांधी की हत्या के सात बार प्रयास किए गए सबसे पहले 1934 में पुणे में उनके ऊपर गोडसे द्वारा बम फेंका गया था किंतु गांधी बच गए अतः केवल हत्या को जायज ठहराने के लिए यह बताना कि गांधी को देश के विभाजन के लिए मारा गया, सबसे बड़ा झूठ है। क्योंकि 1934 में ना तो देश के विभाजन का कोई प्रश्न था ना ही देश आजाद हो पाएगा ऐसी कोई चर्चा थी ।तब गोडसे ने किस के कहने पर और क्यों गांधी पर बम फेंका था ।गुप्ता ने बताया कि कांग्रेस पार्टी में गांधी विचार और दर्शन को लेकर कार्यक्रम शुरू हो चुके हैं मध्य प्रदेश का विचार विभाग आने वाले एक वर्ष में सौ प्रखर वक्ता पार्टी के लिए तैयार करेगा जो गांधी के विचारों में पारंगत होंगे एवं आक्रामक विचार के साथ दुष्प्रचार वादियों का मुकाबला करेंगे कार्यक्रम में प्रदेश कांग्रेस के उपाध्यक्ष चंदप्रकाष शेखर एवं प्रकाश जैन तथा मोहम्मद सलीम भी उपस्थित थे कार्यक्रम का संचालन विचार विभाग के सचिव  सुभाष बाथम ने किया ।