इस वर्ष मेले का टर्नओवर एक हजार करोड़ रूपए करें – पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्रीमंत सिंधिया ।
December 27, 2019 • M.S.Bishotiya
अगले वर्ष से मेले की दुकानों का आवंटन हो ऑनलाईन, श्रीमंत माधवराव सिंधिया ग्वालियर व्यापार मेले का भव्य शुभारंभ
 
  ग्वालियर।पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा है कि ग्वालियर के मेले की पहचान प्रदेश ही नहीं बल्कि देश भर में है। इस ऐतिहासिक मेले में पशु मेले के साथ-साथ हर प्रकार की खरीददारी के लिए सैलानी आते हैं। ग्वालियर व्यापार मेले का टर्न ओवर गत वर्ष से 450 करोड़ रूपए था। इसे अब एक हजार करोड़ रूपए किया जाना चाहिए। इसके साथ ही ग्वालियर व्यापार मेले की दुकानों का आवंटन भी अगले वर्ष से ऑनलाइन किया जाए। मेले में ग्रामीण क्षेत्र से आने वाले सैलानियों को रात में विश्राम के लिए धर्मशाला का निर्माण भी मेला प्राधिकरण करे।
        श्रीमंत माधवराव सिंधिया ऐतिहासिक मेले के शुभारंभ अवसर पर प्रदेश के परिवहन मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत, पशुपालन, मछुआ कल्याण एवं मत्स्य विकास मंत्री श्री लाखन सिंह यादव,  खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी, विधायक श्री मुन्नालाल गोयल, विधायक श्री प्रवीण पाठक, मेला प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री प्रशांत गंगवाल, पूर्व विधायक श्री रमेश अग्रवाल, श्री रामबरन सिंह, श्री मदन कुशवाह, जिला कांग्रेस अध्यक्ष श्री देवेन्द्र शर्मा, ग्रामीण अध्यक्ष श्री मोहन सिंह राठौर, मेला सचिव श्री प्रवीण अग्रवाल, संभागीय आयुक्त श्री एम बी ओझा, एडीजी श्री राजाबाबू सिंह, कलेक्टर श्री अनुराग चौधरी, पुलिस अधीक्षक श्री नवनीत भसीन एवं नगर निगम आयुक्त श्री संदीप माकिन सहित मेला प्राधिकरण के सदस्यगण, जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।
        पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने इस वर्ष वाहनों के रोड़ टैक्स पर 50 प्रतिशत की छूट दी है। इससे मेले में आकर्षण बढ़ेगा। ग्वालियर मेले में रोड़ टैक्स में 50 प्रतिशत की छूट देने पर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ को मैं धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ। श्रीमंत सिंधिया ने कहा कि 114 वर्ष पुराना ग्वालियर का यह ऐतिहासिक मेला दिन-प्रतिदिन विकसित हो और देश के साथ-साथ विदेशों में भी अपनी पहचान स्थापित कर सके, इसके प्रयास हम सबको करना चाहिए।
        पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि मेले में आने वाले व्यापारियों और सैलानियों की सुविधाओं का ध्यान भी मेला प्राधिकरण रखे। उन्होंने कहा कि सिंधिया परिवार ने 114 साल पूर्व पशु मेले के रूप में इसकी स्थापना की थी। तब यह सोच थी कि किसानों को एक ही स्थान पर सभी सुविधायें उपलब्ध हो सकें। उनको उनकी उपज का उचित मूल्य मिले। साथ ही एक ही स्थान पर सभी पशुओं का क्रय-विक्रय भी हो सके। सिंधिया परिवार ने उस समय अन्नदाताओं के लिए रेल सुविधायें उपलब्ध कराईं। इसके साथ ही किसानों के लिए सबसे जरूरी पानी की उपलब्धता के लिए तिघरा और हरसी जैसे बांधों का निर्माण भी कराया। सौ साल बाद भी तिघरा और हसी बांध आज भी किसानों को पानी की उपलब्धता सुनिश्चित कर रहा है।
        पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा गलत कार्य करने वालों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई करने हेतु ऐतिहासिक कदम उठाए गए हैं। खाद्य पदार्थों में मिलावट करने वालों के विरूद्ध अभियान चलाने के साथ-साथ माफियाओं के विरूद्ध भी अभियान चलाकर सख्त कार्रवाई की जा रही है। गलत कार्य करने वाले किसी को भी बख्शा नहीं जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि इस अभियान के तहत किसी निर्दोष पर कार्रवाई न हो, परंतु गलत कार्य करने वाला कोई भी व्यक्ति बख्शा नहीं जाना चाहिए।
        कार्यक्रम में प्रदेश के परिवहन मंत्री श्री गोविन्द सिंह राजपूत ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा श्रीमंत सिंधिया के आग्रह पर इस वर्ष भी वाहनों के रोड टैक्स पर 50 प्रतिशत की छूट प्रदान की गई है। इससे मेले में वाहनों को क्रय करने वालों को लाभ मिलेगा और मेले की आय भी बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि ग्वालियर का मेला एक ऐतिहासिक मेला है। ग्वालियर – चंबल संभाग के साथ-साथ प्रदेश भर के लोग साल भर मेले के आयोजन का इंतजार करते हैं। मेला क्रय-विक्रय के साथ-साथ एक सांप्रदायिक सदभाव और आपसी मेल-जोल का स्थल है। यह मेला दिन प्रतिदिन अपनी ख्याति और बढ़ाए। प्रदेश सरकार मेले के विकास के लिए सदैव तत्पर है।
        प्रदेश के पशुपालन, मछुआ कल्याण एवं मत्स्य विकास मंत्री श्री लाखन सिंह यादव ने कहा कि ग्वालियर का व्यापार मेला एक सदी पुराना व्यापार मेला है। 114 साल पुराना यह मेला आज भी जन आकर्षण का केन्द्र है। ग्रामीण क्षेत्र में आज भी ग्रामीणजन सामान खरीदने के लिए ग्वालियर मेले का इंतजार करते हैं। प्रदेश सरकार ने भी मेले में 50 प्रतिशत टैक्स की छूट प्रदान कर मेले के आकर्षण को और बढ़ाया है।
        खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा कि सिंधिया परिवार द्वारा प्रारंभ किए गए इस ऐतिहासिक मेले के स्वरूप को और विशाल किया जाना चाहिए। इस मेले की पहचान देशभर में है। देश भर के सैलानी ग्वालियर व्यापार मेले में पधारते हैं। मेले को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिले, इसके लिए हम सबको प्रयास करना चाहिए।
        महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने कहा कि ग्वालियर व्यापार मेले में ग्रामीण क्षेत्र से आने वाले ग्रामीणों को रात में ठहरने की व्यवस्था भी होना चाहिए। इसके लिए मेला प्राधिकरण प्रयास करे। ग्वालियर मेले में ग्वालियर-चंबल संभाग के गाँव-गाँव से लोग आते हैं और मेले का आनंद लेते हैं। ग्रामीणों को ठहरने की व्यवस्था भी की जाना चाहिए।
        कार्यक्रम में विधायक श्री प्रवीण पाठक एवं श्री मुन्नालाल गोयल ने भी इस ऐतिहासिक मेले के विकास में सभी के सहयोग की आवश्यकता बताई। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा 50 प्रतिशत छूट की जो घोषणा की गई है उससे मेले में और रौनक आयेगी। अधिक से अधिक लोग मेले से वाहन क्रय कर सकेंगे। कार्यक्रम के प्रारंभ में मेला प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री प्रशांत गंगवाल ने स्वागत भाषण दिया।
सांस्कृतिक कैलेण्डर का विमोचन एवं वाईफाई का लोकार्पण
        ग्वालियर व्यापार मेले में फ्री वाईफाई की सुविधा उपलब्ध रहेगी। पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने फ्री वाईफाई का लोकार्पण किया। इसके साथ ही मेला प्राधिकरण द्वारा तैयार किए गए सांस्कृतिक कैलेण्डर का भी विमोचन किया गया।