भोपाल।जिम्मेदार पत्रकार का गैरजिम्मेदाराना कार्य, आमजनता के जीवन से खिलवाड़,हनी ट्रैप मामले में भी पत्रकारों का नाम सुर्खियों में था ।
March 27, 2020 • M.S.Bishotiya

जिम्मेदार पत्रकार का गैरजिम्मेदाराना कार्य, आमजनता के जीवन से खिलवाड़

हनी ट्रैप मामले में भी पत्रकारों का नाम सुर्खियों में था।

  भाजपा नेताओं का समर्थन प्राप्त ।

भोपाल ।एक बड़े प्रतिष्ठित मिडिया समूह सहरा समय  जुड़े से पत्रकार वीरेन्द्र शर्मा जी ने शुक्रवार को एक ऐसी शर्मनाक हरकत की है जिसके चलते आमजनता के जीवन से खिलवाड़ तो किया ही गया साथ ही कोरोना जैसे आत्मघाती वायरस के प्रकोप मैं भी जिम्मेदारी से अपनी ड्यूटी निभा रहे शासकीय कर्मचारियों के मनोभाव पर प्रतिकूल असर पड़ा है। मामला कुछ इस प्रकार है कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की प्रेस कांफ्रेंस में उपस्थित रहे पत्रकार वीरेंद्र शर्मा कोरोना के संदिग्ध लोगों मैं शामिल है ओर उन्हें आगामी 14 दिनों तक स्वयं को सेल्फ क्वारेंटाईन मैं रखना है। शासन के निर्देशानुसार आज निगरानी दल जब उनके चार इमली स्थित घर E8/27 पर कोरोना संदिग्ध कोविड-19 (Do Not Visit) डू नाट विजीट का पर्चा चस्पा करने गया तो उन्होंने दल के साथ बदतमीजी करते हुए पर्चा चिपकाने नहीं दिया ओर अपने इस शर्मनाक कृत्य का स्वयं विडीयों बनाकर वायरल किया । अपर कलेक्टर द्वारा गठित उक्त दल में नगर निगम कर्मचारी, पटवारी ओर वार्ड प्रभारी थे। 

ऐसा जिम्मेदार व्यक्ति द्वारा इस तरह की गैरजिम्मेदाराना हरकत सर्वथा निंदनीय है। ऐसे लोगों के खिलाफ धारा 188 का मामला दर्ज होना चाहिए। देंखे घटना का विडियो जो संबंधित पत्रकार बंधु द्वारा स्वयं वायरल किया गया है।

*भोपाल के कलेक्टर से मेरा सवाल*.... मुझे किस आधार पर कोविद-19 संदिग्ध सूची में शामिल किया गया और यदि किया गया तो क्या मुझे इसकी सूचना दी गई। यदि हां तो सूचना की प्रति और मेरे द्वारा दी गई पावती मुझे उपलब्ध कराई जाए और यदि नहीं तो फिर मेरे घर पर पोस्टर चिपकाने लोग क्यों भेजे गए और इसके चलते  पूरे प्रदेश भर में मेरे खिलाफ धारा 188 लगाने का जो मैसेज वायरल हो रहा है और जिसके कारण मेरी मानहानि हो रही है, उसका जिम्मेदार कौन है?
वीरेन्द्र शर्मा,ब्यूरो चीफ,सहरासमय,भोपाल मध्यप्रदेश